The Title Of Ajay Devgan And Amitabh Bachchan's Film Was Changed To 'Runway 34' For Mass Audience To Understand Easily

मास ऑडियंस को आसानी से समझ आए, इसलिए अजय देवगन और अमिताभ बच्चन की फिल्म का टाइटल चेंज कर किया गया 'रनवे 34'

 अक्सर विवादों से बचने के लिए फिल्मों के टाइटल रिलीज से ठीक पहले तक चेंज होते रहे हैं। मिसाल के तौर पर आयुष शर्मा की 'लवयात्री', अक्षय कुमार की 'लक्ष्मी बॉम्ब', कार्तिक आर्यन की अपकमिंग साजिद नाडियाडवाला के बैनर की फिल्म और सलमान खान की 'भाईजान', इन सभी फिल्मों के पहले नाम कुछ और थे। अजय देवगन और अमिताभ बच्चन की अपकमिंग फिल्म 'रनवे 34' के साथ भी हाल में ऐसा हुआ। इसकी वजह फिल्म से जुड़े लोगों ने खास तौर पर दैनिक भास्कर से शेयर की। पहले इस फिल्म का नाम 'मेडे' था।

मास ऑडियंस रिलेट कर पाए, इसलिए फिल्म का टाइटल हुआ 'रनवे 34'
सूत्रों ने कहा, "यहां मामला विवाद की अपेक्षा इस वर्ड का खासा टेक्निकल होना था। यह अमूमन इंटरनेशनल टेरिटरी में आपातकाल की स्थिति में पायलट लोग बतौर डिस्ट्रेस कॉल इस्तेमाल करते हैं। इससे मास ऑडियंस उतना रिलेट नहीं कर पाती। लिहाजा इसे बदलकर 'रनवे 34' किया गया। अब लोग आसानी से समझ सकते हैं कि फिल्म का ताल्लुक फ्लाइट संबंधी गतिविधियों से है।"

सूत्रों ने आगे बताया, "फिल्म की कहानी ऐसे पायलट की है, जिस पर मानवीय भूल के चलते विमान हादसा करवाने के आरोप लगे हुए हैं। उस रोल में अजय देवगन हैं। इस सीन को हैदराबाद के रामोजी फिल्मसिटी में शूट किया। वहां बाकायदा पूरा प्लेन हायड्रोलिक पंपों के ऊपर खड़ा किया गया। ताकि तूफान में प्लेन के हिलने डुलने के सीक्वेंस को फिल्माया जा सके। पूरे तामझाम पर 4 से 5 करोड़ खर्च किए गए। प्लेन और पायलट रूम का प्रोडक्शन डिजाइन 'बाहुबली' फेम नेशनल अवॉर्ड विनर साबु सिरिल ने किया। तकरीबन 80 से 90 कलाकारों को अलग-अलग प्रांतों से कास्ट किया गया। वो प्लेन में राहगीर के तौर पर नजर आएंगे। उसके लिए अलग-अलग राज्यों के कलाकारों को चुना गया ताकि प्लेन में पैन इंडिया यात्री सफर करते महसूस हों।"

महज 25 दिनों में अमिताभ ने अपने हिस्से का शूट किया पूरा
सूत्रों ने अमिताभ बच्चन के किरदार से जुड़ी जानकारियां भी साझा कीं। उनके मुताबिक, "पायलट अजय देवगन पर मानवीय भूल से विमान हादसा करने के आरोप हैं। उन आरोपों को सही करार देने वाले वकील के रोल में हैं। 'खाकी' और 'राम गोपाल वर्मा की आग' के बाद लंबे अर्से बाद दोनों एक दूसरे के खिलाफ खड़े शख्स के रोल में हैं। अमिताभ बच्चन पूरी फिल्म में हैं। हालांकि, उन्होंने महज 25 दिनों में अपना पूरा हिस्सा शूट कर लिया।"

कोर्ट में अजय देवगन के पक्ष में वकील के तौर पर बमन ईरानी का किरदार खड़ा होता है। रकुल प्रीत सिंह इसमें अजय देवगन की को-पायलट के रोल में हैं। आकांक्षा सिंह अजय देवगन की पत्नी, जबकि अंगीरा धर एस्पायरिंग मॉडल के किरदार में हैं। फिल्म में गानों की शूटिंग का पोर्शन रशिया में शूट हुआ है। उसके लिए अजय देवगन और बाकी कलाकार भी वहां पहुंचे थे।

Post a Comment

0 Comments