सिरमौर में बर्फबारी का आरंभ : Sirmaur Snowfall Starts Chuddhar Area

 सिरमौर में बर्फबारी का आरंभ 


सिरमौर में बर्फबारी का आरंभ हो चुका है चूड़धार में लगभग 4 से 8 फीट बर्फ पड़ चुकी है इसके अलावा अन्य स्थानों में भी वर्क शुरू होने की आशंका है क्योंकि दिसंबर का महीना आ चुका है जनवरी में भी काफी अधिक बर्फबारी होने की आशंका है किसानों का मानना है कि बर्फबारी उनके लिए फायदेमंद भी है और नुकसानदायक भी अतः उन्हें बर्फबारी होने से काफी अधिक नुकसान झेलना पड़ता है परंतु उनके लिए यह फायदेमंद भी बनता है क्योंकि लहसुन जैसी फसलों में बर्फबारी के कारण काफी  साइज का बढ़ना है |


हिमाचल प्रदेश सिरमौर में किसानों द्वारा लगाई गई पौध स्टोबेरी फूल गोभी बंद गोभी जैसी फसलों का आगाज हो गया है किसानों ने लगातार पिछले ही दिनों में नवंबर 28 से दिसंबर 5 तक काफी अधिक पौधारोपण किया है भविष्य में यह आशंका बनी रही है कि बर्फबारी के कारण कहीं पौधारोपण में नुकसान ना हो परंतु इनका मानना है कि अगर बर्फ सामान्य रहती है तो कोई परेशानी नहीं आएंगे परंतु अगर  ठंड में तापमान की मात्रा  काफी कम हो जाती है तो स्टोबेरी बंदगोभी फूलगोभी जैसी फसलों में पौधों को नुकसान पहुंच सकता है |


 प्रकृति पर निर्भर करता है कि वह किसानों के साथ है या नहीं

 

 लहसुन के लिए फायदेमंद


 स्थानीय किसानों का मानना है कि  अगर बर्फबारी  समय पर गिर जाती है तो यह लहसुन जैसी फसल के लिए काफी फायदेमंद हो जाती है | लहसुन की फसल साल भर की फसल है जिसे नियमित रूप से चलाने के लिए बर्फ का होना अति आवश्यक है  क्योंकि समय पर बर्फ होने से लहसुन में काफी तीव्र गति से जान आ जाती है इससे लहसुन का साइज एवं ऊपरी भाग काफी विकसित होता है अतः हम कह सकते हैं की बर्फबारी लहसुन के लिए फायदेमंद सिद्ध है |


 स्टोबेरी ,फुल गोभी ,बंद गोभी  का आरंभ हो चुका है 


 सिरमौर हिमाचल प्रदेश में पिछले ही महीने से स्टोबेरी फूल गोभी बंद गोभी जैसी फसलों का रोपण शुरू हो गया है इसके अलावा काफी जगह दिसंबर एक से दो में भी रोपण किया गया है अंधाधुंध किसानों का यह मानना है की उनके लिए फसलों का पर्याप्त फायदा तभी मिलेगा अगर बर्फबारी हो परंतु अगर यह समय से पहले हो गई तो फसलों को नुकसान पहुंचा सकती है स्टोबेरी फुल गोभी और  बंद गोभी जैसी फसलों को हानि पहुंच सकती है |

Post a Comment

0 Comments