Idea Share price

 Idea Share price

Vodafone Idea Share Update: 30 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंचा वोडाफोन आईडिया, 4 महीने में 450 फीसदी का रिटर्न, जानें क्यों

Vodafone Idea Share Update: हफ्ते के पहले कारोबारी दिन भी वोडाफोन आईडिया के शेयर में  10 फीसदी उछाल देखा गया और 15.85 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा था. हालांकि बाजार में कमजोरी का खामियाजा शेयर को भुगतना पड़ा और बाजार बंद होने के समय वोडाफोन आईडिया 3.81 फीसदी तेजी तेजी के साथ 15 रुपये पर बंद हुआ.


4 महीने में 450 फीसदी का रिटर्न


लेकिन बीते 30 महीनों में वोडाफोन आईडिया के शेयर का ये सबसे उच्चतम स्तर है. आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले 11 ट्रेडिंग सेशन में वोडाफोन आईडिया के शेयर में 50 फीसदी से ज्यादा का उछाल आ चुका है. तो बीते चार महीने में कंपनी ने अपने निवेशकों को 450 फीसदी का रिटर्न दिया है. अगस्त महीने में वोडाफोन आईडिया ने 4.55 रुपये के न्यूत्तम स्तर तक जा लुढ़का था, जब कुमार मंगलम बिरला ने वोडाफोन आईडिया के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था.  

लेकिन एक के बाद वोडाफोन आईडिया के लिये खुशखबरी आती रही जिससे शेयर में तेजी देखने को मिली है. पहले सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों खासतौर से वोडाफोन आईडिया को सकंट से उभारने के लिये वेलआउट पैकेज का ऐलान किया. इसके बाद 25 नवंबर से वोडाफोन आईडिया ने प्रीपेड मोबाइल टैरिफ में 20 से 25 फीसदी का इजाफा कर दिया. अब दूरसंचार विभाग ने टेलीकॉम कंपनियों को दिये गये बेलआउट पैकेज के तहत उनका बैंक गारंटी वापस कर दिया है जो उन्हें स्पेक्ट्रम चार्जेज और लाइसेंस फीस के बदले में गिरबी रखना पड़ता था. जिससे कोई कंपनी इन चार्जेज का भुगतान ना कर पाये तो दूरसंचार विभाग इन बैंक गारंटी को भूना सके.


बैंक गारंटी वापस 


 इन बैंक गारंटी के बदले में टेलीकॉम कंपनियों को बैंकों को मोटा ब्याज देना पड़ता था. दूरसंचार विभाग ने 9200 करोड़ रुपये का बैंक गारंटी तीनों टेलीकॉम कंपनियों लौटा दिया है. जिसमें भारती एयकटेल को 4,000 करोड़ रुपये, रिलांय जियो को 2700 करोड़ रुपये और वोडाफोन आईडिया को 2500 करोड़ रुपये. लेकिन बैंक गारंटी वापस करने का सबसे बड़ा फायदा वोडाफोन आईडियो को होने वाला है क्योंकि इससे कंपनी पर बैंक के कर्ज के बोझ कम हो सकेगा. इन कदमों को वोडाफोन आईडिया को फायदा मिलने की उम्मीद है और कंपनी को वित्तीय सकंट से बाहर निकालने में मदद मिलेगी. 


टैक्स विवाद सुलझाने के लिये आवेदन


कंपनी के सबसे बड़ी राहत है कि वोडाफोन आईडिया की पैरेंट कंपनी वोडाफोन ग्रुप ने सरकार से 20,000 करोड़ रुपये का restrospective tax का विवाद सुलझाने के लिये आवेदन दे दिया है. जानकारों का मानना है कि इसका फायदा वोडाफोन आईडिया को मिल सकता है. 

Post a Comment

0 Comments